Whatsapp Status, Cool Status, Love Status, Status In Hindi, Attitude Status In Hindi, Romanic Status, Funny Status, Funny Facebook Status, Sad Status, Punjabi Status, Sad Status In Hindi, Love Status In Hindi, Alone Status, Sad Quotes, Best Whatsapp Status, Cool Whatsapp status

Saturday, 13 January 2018

Republic Day 2018 Essay In English And Hindi

Republic Day 2018 Essay In English And Hindi


Republic Day (26th of January) is a special day for India, celebrated annually as a National Festival all over India to commemorate and honor the day when the Constitution of India came into force (26 January 1950) as the governing document of India.



Republic Day Essay In Hindi

Essay 1 - हमारे देश, भारत हर साल गणतंत्र दिवस मनाता है जब भारत के संविधान लागू हुआ है। भारत के संविधान ने भारत सरकार अधिनियम 1 9 35 को प्रतिस्थापित 1 9 जनवरी 1950 की विशेष तिथि पर भारत के शासी दस्तावेज के रूप में किया। यह भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय अवकाश के रूप में घोषित किया गया है। भारत के लोग अपने तरीके से मनाते हुए इस महान दिन का आनंद उठाते हैं। इस दिन भारत की राष्ट्रीय राजधानी में भारत की राष्ट्रपति की उपस्थिति में राजपथ (भारत गेट के सामने) पर राष्ट्रीय राजधानी में एक परेड होता है।

Essay 2 - भारत हर वर्ष गणतंत्र दिवस मनाता है जब 26 जनवरी को 1 9 50 में जब भारतीय संविधान लागू हुआ था। भारत में गणतंत्र दिवस, इतिहास में महान महत्व का है क्योंकि यह हमें आजादी के प्रत्येक संघर्ष के बारे में बताता है। जो लोग भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ रहे थे उसी दिन 1 9 30 में लाहौर में भारत के रवी नदी के किनारे एक पूरी आजादी हासिल करने के लिए (पूर्ण पूर्णा स्वराज) भारत की प्रतिज्ञा की। जो 1 9 47 में 15 अगस्त को एक दिन सच हुआ।1 9 26 में जनवरी 1 9 50 में हमारे देश को भारत को एक सार्वभौम, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया गया था, इसका अर्थ है कि भारत के लोगों को देश को खुद को शासन करने की शक्ति है। यह राष्ट्रीय ध्वज को उजागर करके और राष्ट्रगान को गा कर भारत के राष्ट्रपति की उपस्थिति में राजपथ, नई दिल्ली में विशेष परेड के साथ एक बड़ी घटना का आयोजन करके मनाया जाता है।

Essay 3 - गणतंत्र दिवस को भी 26 जनवरी कहा जाता है, जिसे हर साल मनाया जाता है क्योंकि यह दिन हर भारतीय के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि इस दिन भारत को गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था, साथ ही साथ लंबे समय से संघर्ष के आजादी के बाद भारत का संविधान लागू हुआ। 1 9 47 में भारत को 15 अगस्त को स्वतंत्रता मिली और दो और आधे साल बाद यह लोकतांत्रिक गणराज्य बन गया।
1 9 47 में 28 अगस्त को बैठक में भारत में स्थायी गठन का मसौदा तैयार करने के लिए मसौदा समिति को नियुक्त किया गया था। डॉ। बी.आर. अम्बेडकर ड्राफ्टिंग कमेटी के अध्यक्ष थे, जिन्होंने जिम्मेदारियों को उठाया और 1 9 47 में 4 नवंबर को विधानसभा में भारत का संविधान प्रस्तुत किया लेकिन 1 9 26 में "पराना शपथ" की प्रतिज्ञा का सम्मान करने के लिए वर्ष 1 9 26 में लागू करने के लिए साल लग गए।
गणतंत्र दिवस भारत में राष्ट्रीय अवकाश है, जब लोग अपने स्वयं के तरीके में खबरों, भाषणों को देखकर या भारत की स्वतंत्रता से संबंधित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं में भाग लेने के द्वारा सम्मान के इस महान दिवस को मनाते हैं। इस दिन एक बड़ी घटना भारत सरकार द्वारा राजपथ, नई दिल्ली में आयोजित की जाती है जहां भारत के ध्वज के उद्घाटन के बाद भारत के गेट के सामने भारत गेट के समक्ष भारत सेना द्वारा परेड आयोजित की जाती है और राष्ट्रीय ध्वज गाना ।

Essay 4 - भारत में 26 जनवरी को प्रति वर्ष गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत का संविधान अस्तित्व में आया। यह भारत के राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाया जाता है जिसे राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया है। गांधी जयंती और स्वतंत्रता दिवस दो राष्ट्रीय अवकाश हैं। भारतीय संसद में भारतीय संविधान के सुदृढ़ीकरण के बाद 1 9 50 में जनवरी 1 9 50 में हमारे देश पूरी तरह से लोकतांत्रिक गणराज्य बन गए थे।
इस दिन एक महान भारतीय सेना परेड होता है जो आम तौर पर विजय चौक से शुरू होता है और भारत गेट पर समाप्त होता है। भारतीय सेना (सेना, नौसेना और वायुसेना) राजपूत पर परेड करते समय भारत के राष्ट्रपति को सलाम करती है। भारतीय सेना परेड के माध्यम से भारत की शक्ति प्रदर्शित करती है और टैंकों और बड़ी बंदूकों जैसे सभी महान आविष्कारों का प्रदर्शन करती है। सेना परेड के बाद, भारत के हर राज्य अपने झांकियों को अपनी संस्कृति और परंपरा दिखाते हैं। इसके बाद, एक त्रिकोणीय रंग (हमारे माननीय राष्ट्रीय ध्वज के भगवे, हरे और सफेद रंग की तरह) फूलों का वर्षा आकाश में आकाश में होता है।
छात्रों को परेड, झंडे, राष्ट्रगीत गायन, स्वतंत्रता सेनानियों, नृत्य, गायन, नाटक खेलना, सामाजिक अभियान में मदद करने, प्रतियोगिताओं में प्रश्नोत्तरी करने, निबंध लेखन में भूमिका निभाते हुए, महान घटनाओं का आयोजन करके स्कूलों और कॉलेजों में इस दिन का जश्न मनाते हैं। पोस्टर डिस्प्ले, जादू, कॉमेडी गतिविधियों आदि। इस दिन हर भारतीय को इस देश को शांतिपूर्ण और विकसित देश बनाने के लिए शपथ लेनी चाहिए। अंत में, हर छात्र मिठाई और नमकीन होता है और खुशी से उनके घर जाता है

Essay 5 - 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में जाना जाता है जिसे भारत के लोगों द्वारा हर साल बहुत खुशी के साथ उत्साह मनाया जाता है। इसे 1 9 52 में भारत के संविधान के लागू होने के बाद 26 जनवरी को घोषित एक सार्वभौम लोकतांत्रिक गणराज्य के महत्व को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। यह ब्रिटिश शासन से भारत की ऐतिहासिक स्वतंत्रता का आनंद और याद करने के लिए मनाया जाता है। 26 जनवरी को भारत सरकार द्वारा देश भर में राजपत्रित अवकाश के रूप में घोषित किया गया है। यह स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेने वाले सभी भारतीयों द्वारा मनाया जाता है।
भारत सरकार हर साल राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में एक घटना का आयोजन करती है जहां भारत गेट के सामने एक विशेष परेड आयोजित किया जाता है। लोग महान घटना को देखने के लिए सुबह राजपूत में इकट्ठा करना शुरू कर देते थे। भारतीय सशस्त्र बलों के सभी तीनों पंथों की एक परेड विभिन्न हथियार, हथियार, टैंक, बड़ी बंदूकें आदि का प्रदर्शन करते हुए विजय चौक का निर्माण शुरू करता है। सैन्य बैंड, एन सी सी कैडेट और पुलिस भी परेड में अलग-अलग धुनों में भाग लेते हैं। राज्य के राजनेताओं की उपस्थिति में राज्य की राजधानियों द्वारा कुछ मिनी समारोह भी आयोजित किए जाते हैं।
देश के विभिन्न राज्यों में स्वतंत्रता के बाद उनकी संस्कृति, परंपरा और प्रगति से संबंधित विशेष झांकी भी प्रदर्शित होती है, जो 'भारत में विविधता में एकता' के अस्तित्व को दर्शाती है। लोक नृत्यों का प्रदर्शन लोगों द्वारा किया जाता है, साथ ही साथ कुछ नृत्य, गायन और उपकरण चलाने वाली गतिविधियां होती हैं। घटना के अंत में, हवाई जहाज के साथ एक त्रिकोणीय रंग (केसर, सफ़ेद और हरा) फूल आच्छादित होता है, जो कि राष्ट्रीय ध्वज का प्रतीक दिखाता है। कुछ रंगीन गुब्बारे भी आकाश में उड़ते हैं जो शांति का प्रतीक दर्शाते हैं।
Also Read- Republic Day Speech 

Republic Day Essay In English

Essay 6 - Our Motherland India was slave under the British rule for long years during which Indian people were forced to follow the laws made by British rule. After long years of struggle by the Indian freedom fighters, finally India became independent on 15th of August in 1947. After two and half years later Indian Government implemented its own Constitution and declared India as the Democratic Republic. Around two years, eleven months and eighteen days was taken by the Constituent Assembly of India to pass the new Constitution of India which was done on 26th of January in 1950. After getting declared as a Sovereign Democratic Republic, people of India started celebrating 26th of January as a Republic Day every year.
Celebrating Republic Day every year is the great honour for the people living in India as well as people of India in abroad. It is the day of great importance and celebrated by the people with big joy and enthusiasm by organizing and participating in various events. People wait for this day very eagerly to become part of its celebration again and again. Preparation work for the republic day celebration at Rajpath starts a month before and way to India Gate becomes close for common people and security arrangement done a month before to avoid any type of offensive activities during celebration as well as safety of the people.
A big celebration arrangement in the national capital, New Delhi and State capitals takes place all over the India. Celebration starts with the National Flag unfolding by the President of India and singing National Anthem. Following this Indian army parade, state wise Jhankis, march-past, awards distribution, etc activities takes place. At this day, the whole environment becomes full of the sound of National Anthem “Jana Gana Mana”.
Students of schools and colleges are very keen to celebrate this event and starts preparation around a month before. Students performing well in the academic, sports or other fields of education are honoured with the awards, prizes and certificates on this day. Family people celebrate this day with their friends, family and children by participating in activities organized at social places. Every people become ready in the early morning before 8 am to watch the celebration at Rajpath, New Delhi in the news at TV. At this day of great honour every Indian people should sincerely promise to safeguard the Constitution, maintain peace and harmony as well as support in the development of country.

Essay 7 - 26 January is knows as Republic Day which is celebrated by the people of India every year with great joy ad enthusiasm. It is celebrated to honour the importance of being a Sovereign Democratic Republic which was declared after the enforcement of Constitution of India in 1950 on 26th of January. It is celebrated to enjoy and remember the historic Independence of India from the British Rule. 26th of January has been declared as the gazetted holiday all through the country by the Government of India. It is celebrated by the students all over the India by getting participated in the events organized in schools, colleges, universities and other educational institutions.
Government of India organizes an event every year in the National capital, New Delhi where a special parade is held in front of the India Gate. People started to assemble at the Raj Path in the early morning to see the great event. A parade of all three wings of Indian armed forces starts form the Vijay Chowk displaying various arms, weapons, tanks, big guns and etc. Military bands, N.C.C cadets and police also take part in the parade playing different tunes. Some Mini celebrations by the state capitals are also take place in various states in the presence of state governor.
Various states of the country also display particular Jhanki related to their culture, tradition and progress after independence showing the existence of ‘Unity in Diversity in India’. Folk dances are exhibited by people as well as some dancing, singing and instruments plying activities takes place. At the end of event, a tri color (saffron, white and green) flower showering with aeroplanes takes place in the sky showing the symbol of National Flag. Some colourful balloons are also flown in the sky indicating the symbol of peace.

Essay 8 - In India 26th of January is celebrated as Republic Day every year because constitution of India came into force on this day. It is celebrated as the national festival of India which has been declared as national holiday. Gandhi Jayanti and Independence Day are two another national holidays. On 26th of January in 1950 our country became fully democratic republic after reinforcement of the Constitution of India in the Indian Parliament.
At this day a great Indian army parade takes place which generally starts from the Vijay Chowk and ends at India Gate. Indian army (Army, Navy and Air-force) salutes the President of India while parading on the Rajpath. Indian army display the power of India through the parade and by demonstrating all the great inventions like tanks and big guns. After the army parade, every states of India show their Jhankis displaying their culture and tradition. After that, a tri colour (our honourable National Flag colors like saffron, green and white) flowers showering takes place in the sky by the aeroplanes.
Students celebrate this day in the schools and colleges by organizing great events like parade, Flag unfolding, singing National Anthem, read speech, play roles of freedom fighters, dance, singing, drama play, helping in social campaign, quiz competitions, essay writing, poster display, magic, comedy activities, etc. At this day every Indian should take an oath to make this country peaceful and developed country. At the end, every student gets sweet and namkin and goes to their home happily.


Essay 9 - Republic day also called as 26 January which is celebrated every year as this day is of great importance for every Indian. Because at this day India was declared as the republic country as well as constitution of India came into force after independence of long years of struggle. India got independence on 15th of August in 1947 and two and half years later it became a Democratic Republic.
It was appointed to the Drafting Committee to draft a permanent constitution of India in the meeting on 28th of August in 1947. Dr. B.R. Ambedkar was the chairman of Drafting Committee who took responsibilities and submitted the constitution of India to the Assembly on 4th of November in 1947 however it took years to get enforced on 26th of January in 1950 to honour the pledge of “PURNA SWARAJ”.
Republic day is the national holiday in India when people celebrates this great day of honour in their own way by seeing news, speech at schools or get participated in quiz competitions related to freedom of India. At this day a big event gets organized by the Government of India at the Rajpath, New Delhi where a parade takes place by the India army in front of the India Gate in the presence of President of India after unfolding the India Flag and singing National Anthem.

Essay 10 - India celebrates the Republic Day every year on the 26th of January from 1950 when Constitution of India came into force. Republic day in India is of the great importance in the history as it tells us all about each and every struggle of Indian freedom. People who were fighting for Independence of India took a pledge on the same day in 1930 at the banks of Ravi river in the Lahore to achieve a complete independence (means Poorna Swarajya) of India. Which came true a day in 1947 on 15th of August.
On 26th of January in 1950 our country, India was declared as a Sovereign, Secular, Socialistic and Democratic Republic means people of India has the power to govern the country themselves. It is celebrated by organizing a big event with special parade at the Rajpath, New Delhi in the presence of President of India by unfolding the National Flag and singing the National Anthem.
Share:

Republic Day/26 January 2018 Speech In Hindi And English

Republic Day/26 January 2018 Speech In Hindi And English


Republic Day/26 January celebration is a big national event for students especially in schools, colleges and other educational institutions in India. Diversity of activities is conducted by teachers to increase the student's skills and knowledge about Republic Day of India. Speech lessons and group discussions on Republic Day of India are some of the most important activities.We have provided on the Republic Day under various speeches which will help students develop leadership qualities. All Republic Day speeches are very simple and easy to write, which are written according to the requirement and requirement of the students. Using this kind of speech, students can be easily involved in the activities of speech without hesitation. Therefore, you can select any speech on Republic Day according to your class standard:



Republic Day/26 January Speech In Hindi

Speech 1 - मेरे सम्मानित प्रधान महोदया, मेरे सम्मानित सर और मैडम और मेरे सभी सहयोगियों को अच्छी सुबह मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा कि मुझे हमारे गणतंत्र दिवस पर कुछ बोलने का इतना बड़ा मौका दें। मेरा नाम है ... .. मैं कक्षा में पढ़ा ... ..
आज, हम सब हमारे देश के 67 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिए यहां हैं। यह हम सभी के लिए एक महान और शुभ अवसर है। हमें एक दूसरे से बधाई देना चाहिए और हमारे राष्ट्र के विकास और समृद्धि के लिए भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। 26 जनवरी को हम हर साल भारत में गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि भारत के संविधान इस दिन अस्तित्व में आया। हम 1 9 50 से जनवरी 1 9 50 तक भारत के गणतंत्र दिवस को नियमित रूप से मना रहे हैं। 1 9 50 में भारत संविधान लागू हुआ था।
भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां जनता को देश की अगुवाई करने के लिए अपने नेताओं का चुनाव करने के लिए अधिकृत किया गया है। डॉ राजेंद्र प्रसाद हमारे भारत के पहले राष्ट्रपति थे। चूंकि हमें 1 9 47 में ब्रिटिश शासन से आजादी मिली, हमारे देश ने बहुत विकसित किया है और शक्तिशाली देशों में गिना जाता है। कुछ घटनाक्रमों के साथ, कुछ कमियां भी ऐसी असमानता, गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, निरक्षरता आदि पैदा हुई हैं। आज हमें देश में इस तरह की समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिज्ञा करने की आवश्यकता है ताकि हमारे देश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश बना सकें।
धन्यवाद, जय हिंद!

Speech 2 - सभी को सुप्रभात। मेरा नाम ...... मैं कक्षा में पढ़ा है ... .. जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम यहां पर हमारे देश के विशेष अवसर पर इकट्ठे हुए हैं जिसे भारत गणतंत्र दिवस कहा जाता है। मैं आपके सामने एक गणतंत्र दिवस के भाषण का वर्णन करना चाहता हूं। सबसे पहले मैं अपने कक्षा के शिक्षक के लिए बहुत धन्यवाद कहना चाहूंगा क्योंकि उसके कारण मुझे इस स्तर पर आने के लिए इस तरह का एक शानदार अवसर मिला है और गणतंत्र दिवस के अपने महान अवसर पर अपने प्यारे देश के बारे में कुछ बोलना है ।
भारत 15 अगस्त 1 9 47 के बाद से एक स्वशासी देश है। भारत को 1 9 47 में 15 अगस्त को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता मिली, जो कि हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं, हालांकि, जनवरी 1 9 26 से गणतंत्र दिवस के रूप में हम मनाते हैं। 1 9 50 में भारत का संविधान 26 जनवरी को लागू हुआ था, इसलिए हम हर दिन गणतंत्र दिवस के रूप में इस दिन का जश्न मनाते हैं। 2016 में इस वर्ष, हम भारत के 67 वें गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहे हैं।
गणतंत्र का मतलब देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति है और केवल जनता को अपने प्रतिनिधियों को सही दिशा में देश का नेतृत्व करने के लिए राजनीतिक नेता के रूप में चुनने का अधिकार है। इसलिए भारत एक गणतंत्र देश है जहां जनता ने अपने नेताओं को राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री के रूप में चुना है। हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत में "पूर्ण स्वराज" के लिए बहुत कुछ संघर्ष किया है। उन्होंने ऐसा किया कि उनकी अगली पीढ़ी संघर्ष और नेतृत्व वाले देश के आगे आगे रह सकें।
हमारे महान भारतीय नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों का नाम महात्मा गांधी, भगत सिंह, चन्द्र शेखर अजद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि हैं। उन्होंने भारत को एक स्वतंत्र देश बनाने के लिए ब्रिटिश शासन के खिलाफ लगातार लड़े। हम अपने देश के प्रति उनके बलिदानों को कभी नहीं भूल सकते हैं हमें उन महान अवसरों पर याद रखना चाहिए और उन्हें सलाम करना चाहिए। यह केवल उनके कारण ही संभव हो गया है कि हम अपने मन से सोच सकते हैं और बिना किसी के बल के हमारे देश में स्वतंत्र रूप से जी सकते हैं।
हमारे पहले भारतीय राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने कहा था कि, "हम इस पूरे विशाल जमीन को एक संविधान और एक संघ के अधिकार क्षेत्र के तहत लाए जाते हैं जो 320 मिलियन से अधिक पुरुषों और महिलाओं के कल्याण के लिए ज़िम्मेदारी लेते हैं "। यह कहने में शर्म की बात है कि हम अब भी हमारे देश में अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा (आतंकवादी, बलात्कार, चोरी, दंगों, हमलों आदि) के साथ लड़ रहे हैं। फिर से, हमारे दासता को बचाने के लिए हमारे देश को बचाने के लिए इकट्ठा होने की आवश्यकता है क्योंकि यह हमारे देश को विकास और प्रगति की मुख्य धारा तक जाने से वापस खींच रहा है। हमें आगे चलने के लिए उन्हें हल करने के लिए हमारे सामाजिक मुद्दों जैसे गरीबी, बेरोजगारी, निरक्षरता, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता आदि के बारे में पता होना चाहिए।
डॉ। अब्दुल कलाम ने कहा है कि "यदि देश भ्रष्टाचार मुक्त है और एक सुंदर राष्ट्र बन गया है, तो मुझे दृढ़ता से लगता है कि तीन प्रमुख सामाजिक सदस्य हैं जो एक अंतर पैदा कर सकते हैं। वे पिता, माता और शिक्षक हैं "। देश के नागरिक के रूप में हमें इसके बारे में गंभीरता से विचार करना चाहिए और हमारे देश की अगुवाई करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।
धन्यवाद, जय हिंद

Speech 3 - मैं अपने सम्मानित प्रिंसिपल, महोदय, महोदया और मेरे प्यारे सहयोगियों को अच्छी सुबह बताना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम अपने देश के 67 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिए यहां मिलते हैं। यह हम सभी के लिए बहुत शुभ अवसर है। 1 9 50 से, हम हर साल बहुत खुशी और खुशी के साथ गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। जश्न शुरू करने से पहले, गणतंत्र दिवस के हमारे मुख्य अतिथि ने भारत के राष्ट्रीय ध्वज को फहराया। तब हम सभी खड़े होकर हमारे भारतीय राष्ट्रीय गान जीते हैं जो भारत में एकता और शांति का प्रतीक है। हमारे राष्ट्रीय गान महान कवि रविंद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखे गए हैं।
हमारे राष्ट्रीय झंडे में तीन रंग और एक चाक है जिसमें 24 समान छड़ हैं। हमारे भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के सभी तीन रंगों का कुछ अर्थ है। हमारे ध्वज का सबसे बड़ा भगवा रंग हमारे देश की ताकत और साहस को दर्शाता है। बीच का सफेद रंग शांति को इंगित करता है, हालांकि हरे रंग के रंग में वृद्धि और समृद्धि का संकेत मिलता है। महान अशोक के धर्म चक्र का संकेत करते हुए 24 समान प्रवक्ता वाले केंद्र में एक नौसैनिक नीले रंग का चक्र है।
हम गणतंत्र दिवस को 26 जनवरी को मनाते हैं क्योंकि 1 9 50 में इस दिन भारतीय संविधान लागू हुआ था। गणतंत्र दिवस समारोह में, भारत सरकार ने नई दिल्ली में भारत गेट के सामने राजपथ में एक बड़ी व्यवस्था की है। हर साल, मुख्य अतिथि (अन्य देश के प्रधान मंत्री) को "अतीथी देओ भव" कहने के उद्देश्य के साथ-साथ इस अवसर की महिमा बढ़ाने के लिए आमंत्रित किया जाता है। भारतीय सेना गणतंत्र दिवस परेड करती है और राष्ट्रीय ध्वज का सलाम करती है भारतीय संस्कृति और परंपरा की एक बड़ी प्रदर्शनी भी भारत के विभिन्न राज्यों द्वारा भारत में विविधता में एकता दिखाने के लिए होती है।
जय हिंद, जय भारत

Speech 4 - मैं अपने सम्मानित प्रिंसिपल, मेरे शिक्षकों, मेरे वरिष्ठ और सहयोगियों को अच्छी सुबह कहना चाहूंगा। मुझे इस विशेष अवसर के बारे में आपको कुछ जानने दो। आज हम अपने देश के 67 वें गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहे हैं। 1 9 50 से 1 9 50 के बाद से भारत की आजादी के लिए 1 9 47 में मनाते हुए शुरू किया गया था। हम 26 जनवरी को हर वर्ष इसे मनाते हैं क्योंकि हमारा संविधान उसी दिन लागू हुआ था। 1 9 47 में ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद, भारत एक आत्म-शासित देश नहीं था जिसका अर्थ है एक सार्वभौम राज्य। 1 9 50 में जब इसके संविधान लागू हुआ तो भारत एक स्वशासी देश बन गया।
भारत एक गणतंत्र देश है जिसमें कोई भी राजा या रानी नहीं है, लेकिन इस देश का जनता शासक है। इस देश में रहने वाले हम में से हर एक के समान अधिकार हैं, कोई भी राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री या प्रधान मंत्री नहीं हो सकता है, हमें मतदान न करें। हमें सही देश में इस दिशा में सही दिशा में नेतृत्व करने के लिए हमारे सर्वोत्तम प्रधान मंत्री या अन्य नेताओं को चुनने का अधिकार है। हमारे नेताओं को हमारे देश के पक्ष में सोचने में सक्षम होना चाहिए। उन्हें देश के हर राज्य, गांवों और शहरों के बारे में समान रूप से सोचना चाहिए ताकि देश जाति, धर्म, गरीब, समृद्ध, उच्च वर्ग, निचले वर्ग, मध्यम वर्ग, निरक्षरता आदि के भेदभाव के बिना भारत एक सुदृढ़ देश बन सकता है।
हमारे नेता को देश के पक्ष में संपत्ति पर हावी होना चाहिए ताकि प्रत्येक अधिकारी सभी नियमों और विनियमों को सही तरीके से पालन कर सके। इस देश को भ्रष्टाचार मुक्त देश बनाने के लिए प्रत्येक आधिकारिक को भारतीय नियमों और विनियमों का पालन करना चाहिए। केवल एक भ्रष्टाचार मुक्त भारत सचमुच एक देश का मतलब होगा "विविधता में एकता"। हमारे नेताओं को उन्हें एक विशेष व्यक्ति नहीं समझना चाहिए, क्योंकि वे हमारी ओर से एक हैं और देश की अगुवाई करने की उनकी क्षमता के अनुसार उनका चयन किया गया है। उन्हें हमारे द्वारा चुने गए एक सीमित समय अवधि के लिए भारत में अपनी सच्ची सेवाएं प्रदान करने के लिए चुना गया है। इसलिए, अपने अहंकार और अधिकार और स्थिति के बीच कोई भ्रम नहीं होना चाहिए।
एक भारतीय नागरिक होने के नाते, हम भी हमारे देश के लिए पूरी तरह जिम्मेदार हैं। हमें अपने आप को अद्यतित करना चाहिए, समाचार पढ़ना चाहिए और अपने देश में जो कुछ चल रहा है, उसके बारे में पूरी तरह से जागरूक होना चाहिए, गलत या सही क्या हो रहा है, हमारे नेता क्या कर रहे हैं और सबसे पहले हम अपने देश के लिए क्या कर रहे हैं। इससे पहले, भारत ब्रिटिश शासन के तहत एक गुलाम देश था, जो हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के हजारों जीवन के बलिदानों के कई वर्षों के संघर्ष के बाद स्वतंत्र हो गया था। इसलिए, हमें अपने सभी अनमोल बलिदानों को आसानी से नहीं जाने देना चाहिए और भ्रष्टाचार, निरक्षरता, असमानता और अन्य सामाजिक भेदभाव के तहत इस देश को एक गुलाम देश बनाना होगा। आज का सबसे अच्छा दिन है जब हमें अपने देश के वास्तविक अर्थ, स्थिति, स्थिति और मानवता की सबसे महत्वपूर्ण संस्कृति को संरक्षित करने के लिए एक शपथ लेनी चाहिए।
धन्यवाद, जय हिंद

Speech 5 - महामहिम, सम्मानित प्रधान सर, सर, महोदया, मेरे वरिष्ठ और मेरे प्रिय सहयोगियों के लिए शुभरात्रि। मेरा नाम ...... मैं कक्षा में पढ़ रहा हूं ... .. मैं भारतीय गणतंत्र दिवस के इस महान वार्षिक अवसर पर भाषण देना चाहता हूं। सबसे पहले, मैं अपने वर्ग के शिक्षक के लिए एक बड़ा धन्यवाद कहना चाहूंगा कि मुझे भारत गणतंत्र दिवस पर यहां भाषण देने का एक बड़ा मौका मिले। मेरे प्यारे दोस्त, हम यहां अपने राष्ट्र के इस विशेष अवसर को मनाने के लिए इकट्ठे हुए हैं। हम जिस दिन भारतीय संविधान लागू होते हैं और भारत गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था, उसी दिन मनाने के लिए प्रतिवर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं।
मुझे भारत के नागरिक होने पर बहुत गर्व है इस दिन, हम भारत के राष्ट्रीय ध्वज को फहराने और हमारे गणतंत्र देश के लिए दिल से सम्मान दिखाने के लिए राष्ट्रगान को गाते हैं। यह देश भर में स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों, शैक्षिक संस्थानों, बैंकों और कई स्थानों पर मनाया जाता है। यह 26 जनवरी 1 9 50 था जब भारतीय राष्ट्रीय संविधान लागू हुआ था। 1 9 47 से 1 9 50 की अवधि संक्रमण अवधि थी और किंग जॉर्ज VI राज्य के प्रमुख बने, जबकि लॉर्ड माउंटबेटन और सी। राजगोपालाचारी भारत के गवर्नर-जनरल बने।
1 9 35 में भारतीय संविधान के लागू होने के बाद 26 जनवरी को भारत सरकार अधिनियम (1 9 35) को भारत के शासी दस्तावेज के रूप में बदल दिया गया था। भारत का संविधान 26 नवंबर को 1 9 4 9 में भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था लेकिन 1 9 50 में बाद में एक लोकतांत्रिक सरकार द्वारा देश को स्वतंत्र गणराज्य घोषित करते हुए लागू किया गया था। 26 जनवरी को विशेष रूप से चुना गया था क्योंकि उसी दिन 1 9 30 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत की स्वतंत्रता का अर्थ पूरा स्वराज किया था। संविधान अपनाने के बाद 1 9 50 में राजेंद्र प्रसाद गणतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति बने।
भारतीय सेना (सभी तीन सेवाओं से) द्वारा एक बड़ी परेड राष्ट्रीय राजधानी (नई दिल्ली) और साथ ही देश की राज्य की राजधानियों में आयोजित की जाती है। राष्ट्रीय राजधानी की परेड रायसीना हिल (राष्ट्रपति भवन के निकट, भारतीय राष्ट्रपति की आवासीय जगह) से शुरू होती है और राजपथ के साथ पिछले भारत गेट को समाप्त होती है। भारतीय सेना के साथ, देश के राज्य भी उनकी संस्कृति और परंपरा दिखाने के लिए परेड (सफ़ेद और आधिकारिक सजावट वाले) में भाग लेते हैं। इस दिन, हमारे देश 26 जनवरी को मुख्य अतिथि (किसी अन्य देश के प्रधान मंत्री या राष्ट्रपति) को आमंत्रित करके "अतीथी देओ भव" की परंपरा का अनुसरण करते हैं। भारत के राष्ट्रपति, जो भारतीय सेना के चीफ के कमांडर हैं, भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा सलामी लेते हैं। भारत के प्रधान मंत्री अमर जवन ज्योति, भारत गेट पर बलिदान किए गए भारतीय सैनिकों के लिए पुष्प श्रद्धांजलि देता है। गणतंत्र दिवस का जश्न 2 9 जनवरी तक जारी है, जो पिटाई की वापसी समारोह के बाद समाप्त होता है। इस दिन, हर भारतीय अपने सम्मान और गौरव को राष्ट्रीय संविधान को दर्शाता है।
जय हिंद, जय भारत

Speech 6 - सम्मानित प्रधान सर, श्रीमान, महोदया, मेरे वरिष्ठ और मेरे प्रिय दोस्तों के लिए शुभ प्रभात मेरा नाम ...... मैं कक्षा में अध्ययन करता हूं ... .. मैं आपके सामने गणतंत्र दिवस पर भाषण देना चाहता हूं। मैं अपने वर्ग के शिक्षक के लिए बहुत आभारी हूं कि मुझे भारत के गणतंत्र दिवस पर भाषण देने का इतना अच्छा मौका मिला। मेरे प्यारे दोस्त, हम हर वर्ष इस राष्ट्रीय घटना को मनाने और भारतीय संविधान के संबंध में सम्मान देते हैं। यह सभी स्कूलों और कॉलेजों में छात्रों और शिक्षकों द्वारा मनाया जाता है लेकिन फिर भी सरकारी कार्यालयों और पूरे देश में राज्यों के अन्य संस्थानों में मनाया जाता है। राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में एक मुख्य उत्सव, भारत के राष्ट्रपति के समक्ष राजपथ, भारतीय गेट पर और किसी दूसरे देश के मुख्य अतिथि में होता है। भारत को श्रद्धांजलि करने के लिए राजपूत में एक भव्य औपचारिक परेड का आयोजन किया जाता है।
इस दिन, 1 9 50 में भारत का संविधान लागू हुआ, हालांकि, संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1 9 4 9 को अपनाया गया। 26 जनवरी को भारत को 1 9 30 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा पूर्ण स्वराज घोषित किया गया था, इसी वजह से 26 जनवरी को भारतीय संविधान लागू करने के लिए चुना गया था। इसके लागू होने के बाद भारत का संघ आधिकारिक तौर पर भारत का समकालीन गणराज्य बन गया, जिसने भारत सरकार अधिनियम 1 9 35 को मूल शासकीय दस्तावेज के लिए स्थान दिया था। संविधान द्वारा हमारे देश को एक सार्वभौम, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणतंत्र घोषित किया गया था। हमारे संविधान में भारत के नागरिकों को उनके बीच न्याय, स्वतंत्रता और समानता के बारे में आश्वासन दिया गया है।
हमारे भारतीय संविधान को संविधान सभा (38 9 सदस्यों) द्वारा तैयार किया गया था। यह तीन साल (वास्तव में दो साल, ग्यारह महीने और अठारह दिन) लिखे जाने के लिए ले गए। डॉ। बी.आर. की अध्यक्षता में संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए 1 9 47 में 2 9 अगस्त को संविधान सभा द्वारा एक मसौदा समिति की स्थापना की गई थी। अम्बेडकर। मसौदा समिति के कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े डॉ। बी.आर. अम्बेडकर, जवाहरलाल नेहरू, गणेश वासुदेव मावलंकर, सी राजगोपालाचारी, संजय फाकी, बलवंतराय मेहता, सरदार वल्लभभाई पटेल, कानईलाल मुंशी, राजेंद्र प्रसाद, मौलाना अबुल कलाम आजाद, नलिनी रंजन घोष, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और संदीपकुमार पटेल। कुल मसौदा समिति के 30 से अधिक सदस्य शेड्यूल क्लास के थे। समिति के कुछ महत्वपूर्ण महिला सदस्य सरोजनी नायडू, राजकुमारी अमृत कौर, दुर्गाबाई देशमुख, हंस मेहता और विजयलक्ष्मी पंडित थे। भारत का संविधान अपने नागरिकों को अपनी सरकार चुनने का अधिकार देता है।
भारत को 1 9 47 में 15 अगस्त को स्वतंत्रता मिली लेकिन संविधान अपनाने के बाद एक सार्वभौम, लोकतांत्रिक और गणराज्य राज्य बन गया। राष्ट्रीय राजधानी में, 21 बंदूकें का एक सलाम भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को दिया जाता है और फिर राष्ट्रीय गान को गाया जाता है। भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा एक विशाल परेड भारत के राष्ट्रपति और मुख्य अतिथि के समक्ष आयोजित किया जाता है। नृत्य और गाने के रूप में उनकी रचनात्मकता दिखाने के लिए स्कूल के छात्र भी परेड में भाग लेते हैं। इसमें भारत में विविधता में एकता प्रदर्शित करने के लिए राजपथ पर राज्यवार झेंगी भी शामिल है।
धन्यवाद, जय हिंद
Also Read - Republic Day Essay

Republic Day/26 January Speech In English

Speech 7 - Good morning to the respected Principal sir, sir, madam, my seniors and my dear friends. My name is…… I study in class….. I would like to speech in front of you on this Republic Day. I am very grateful to my class teacher for giving me such a great opportunity to recite a speech on republic day of India. My dear friends, we celebrate this national event every year to remember and pay respect to the Indian constitution. It is celebrated in all the schools and colleges by the students and teachers however also celebrated at government offices and other institutions of the states all over the country. A main celebration takes place in the national capital, New Delhi, at Rajpath, Indian Gate before to the President of India and chief guest from another country. A grand ceremonial parade is organized at the Rajpath in order to perform tribute to India.
At this day, the Constitution of India came into force in 1950 however, was adopted on 26 November 1949 by the Constituent Assembly. On 26 January, India was declared Purna Swaraj by the Indian National Congress in 1930 that’s why 26 January was chosen to bring Indian Constitution into force. After its enforcement the Union of India officially became contemporary Republic of India which had replaced the Government of India Act 1935 to fundamental governing document. Our country was declared a sovereign, secular, socialist, and democratic republic by the Constitution. Our constitution assures the citizens of India about justice, liberty, and equality among them.
Our Indian Constitution was drafted by the Constituent Assembly (389 members). It took around three years (actually two years, eleven months and eighteen days) to be written. A Drafting Committee was set up by the Constituent Assembly on 29th of August in 1947 to draft the Constitution under the Chairmanship of Dr. B.R. Ambedkar. Some important figures of the drafting committee were Dr. B.R. Ambedkar, Jawaharlal Nehru, Ganesh Vasudev Mavalankar, C. Rajagopalachari, Sanjay Phakey, Balwantrai Mehta, Sardar Vallabhbhai Patel, Kanaiyalal Munshi, Rajendra Prasad, Maulana Abul Kalam Azad, Nalini Ranjan Ghosh, Shyama Prasad Mukherjee, and Sandipkumar Patel. More than 30 members of the total drafting committee were from scheduled class. Some important women members of the committee were Sarojini Naidu, Rajkumari Amrit Kaur, Durgabai Deshmukh, Hansa Mehta, and Vijayalakshmi Pandit. Constitution of India gives rights to its citizens to select their own government.
India got independence in 1947 on 15 August however became a Sovereign, Democratic and Republic state after adoption of its Constitution. In the National capital, a salute of 21 guns is given to the Indian National Flag and then National Anthem is sung. A huge parade by the Indian armed forces is held in front of the President of India and chief guest. School students also participate in the parade to show their creativity in the form of dance and songs. It also includes state wise jhanki on the Rajpath to display the unity in diversity in India.
Thank You, Jai Hind

Speech 8 - Good morning to the Excellencies, respected Principal sir, sir, madam, my seniors and my dear colleagues. My name is…… I study in class….. I would like to speech on this great annual occasion of Indian Republic Day. First of all, I would like to say a big thank to my class teacher for giving me such a great opportunity to speech here on the Republic day of India. My dear friends, we have gathered here to celebrate this special occasion of our nation. We celebrate republic day on 26 January annually to commemorate the day when Indian constitution came into force and India was declared as republic country.
I am very proud to be the citizen of India. At this day, we unfurl the National Flag of India and sing the National Anthem to show our heartily respect for our republic country. It is celebrated all over the country at schools, colleges, universities, educational institutions, banks and many more places. It was 26 January, 1950 when Indian National Constitution came into force. The period from 1947 to 1950 was transition period and King George VI became the head of state whereas Lord Mountbatten and C. Rajagopalachari became the Governors-General of India.
The Government of India Act (1935) was replaced as the governing document of India after the enforcement of Indian Constitution in 1950 on 26 January. The Constitution of India was adopted on 26th of November in 1949 by the by Indian Constituent Assembly however implemented later in 1950 with a democratic government system declaring the country as independent republic. 26 January was especially selected because on the same day in 1930 Indian National Congress had declared Indian Independence means Purna Swaraj. Rajendra Prasad became the first President of Republic India in 1950 after the adoption of Constitution.
A grand parade by the Indian army (from all three services) is organized in the national capital (New Delhi) as well as state capitals of the country. The parade of the national capital starts from the Raisina Hill (near to the Rashtrapati Bhavan, the residential place of Indian President) and ends to the past India Gate along with the Rajpath. Together with the Indian army, states of country also take part in the parade (decked with finery and official decorations) to show their culture and tradition. At this day, our country follows the tradition of “Atithi Devo Bhava” by inviting a chief guest (PM, President or King from another country) on 26 January. President of India, who is the Commander in Chief of Indian army, takes the salute by the Indian Armed Forces. The Prime Minister of India gives a floral tribute to the sacrificed Indian soldiers at the Amar Javan Jyoti, India Gate. The celebration of republic day continues by 29th of January which ends after the beating retreat ceremony. At this day, every Indian shows his/her respect and Pride to the National Constitution.
Jai Hind, Jai Bharat

Speech 9 - I would like to say good morning to our respected Principal, my teachers, my seniors and colleagues. Let me let you know something about this special occasion. Today we are celebrating 67th republic day of our nation. It was started celebrating since 1950, two and half years later to the Independence of India in 1947. We celebrate it every year on 26th of January as our constitution came into effect on the same day. After getting independence from the British rule in 1947, India was not a self-ruled country means a sovereign state. India became a self-governing country when its constitution came into effect in 1950.
India is a republic country which has no any king or queen to rule it however public of this country is the ruler. Every one of us living in this country has equal rights, no one can be a president, chief minister or prime minister without voting of us. We have the right to choose our best Prime Minister or other leaders to lead this country in the right direction. Our leaders should be capable enough to think in the favor of our country. He should think equally about every states, villages and cities of the country so that India can be a well developed country without any discrimination of race, religion, poor, rich, high class, lower class, middle class, illiteracy, etc.
Our leader should have dominating property in the favor of country so that each and every official may follow all the rules and regulations in correct way. Every official should follow the Indian rules and regulations in order to make this country a corruption free country. Only a corruption free India would really and truly mean a country with “Unity in Diversity”. Our leaders should not understand them a special person, as they are one from us and have been selected according to their capability to lead the country. They have been selected by us to serve their truthful services to the India for a limited time period. So, there should not be any confusion between their own ego and authority and position.
As being an Indian citizen, we too are fully responsible about our country. We should make ourselves up-to-date, read news and be completely aware of what are going on in our country, what are going on wrong or right, what are our leaders doing and firstly what we are doing for our country. Earlier, India was a slave country under British rule which was made independent after several years of struggle by the sacrifices of thousands of lives of our freedom fighters. So, we should not let go easily their all priceless sacrifices and make this country a slave country again under corruption, illiteracy, inequality and other social discrimination. Today is the best day when we should take an oath to preserve our country’s real meaning, position, status and most importantly culture of humanity.
Thanks, Jai Hind

Speech 10 - I would like to say good morning to My Respected Principal, Sir, Madam and my dear colleagues. As we all know that we get together here to celebrate 67th Republic Day of our nation. This is very auspicious occasion for all of us. Since 1950, we are celebrating Republic Day every year with lots of joy and happiness. Before starting the celebration, our chief guest of the Republic Day hoists the national flag of India. Then we all stand up and sing our Indian national anthem which is a symbol unity and peace in India. Our National Anthem is written by the great poet Rabindranath Tagore.
Our national flag has three colors and a wheel in the center with 24 equal sticks. All the three colors of our Indian National Flag have some meaning. Top saffron colour of our flag denotes the strength and courage of our country. The middle white colour indicates peace however lower green colour indicates the growth and prosperity. There is a navy blue wheel in the center having 24 equal spokes indicating Dharma Chakra of the great king Ashoka.
We celebrate republic day on 26 January as the Indian constitution came into force at this day in 1950. At republic day celebration, a big arrangement takes place by the government of India in New Delhi at Rajpath in front of the India Gate. Every year, a chief guest (prime minister of other country) is invited to fulfill the purpose of saying “Atithi Devo Bhava” as well as enhance the glory of the occasion. Indian army do republic day parade and take salute of the National Flag. There is also a big exhibition of the Indian culture and tradition takes place by the different Indian states to show the Unity in Diversity in India.
Jai Hind, Jai Bharat

Speech 11 - Good morning to my respected Principal Madam, my respected Sir and Madam and my all colleagues. I would like to say thank you to give me such a great opportunity to speak something on our Republic Day. My name is….. I read in class…..
Today, we all are here to celebrate 67th Republic Day of our nation. This is a great and auspicious occasion for all of us. We should greet each other and pray to God for the development and prosperity of our nation. We celebrate Republic Day in India every year on 26th of January as the constitution of India came into force at this day. We are regularly celebrating the Republic Day of India since 1950 as on 26th of January in 1950 India constitution came into force.
India is a democratic country where public is authorized to elect its leaders to lead the country. Dr. Rajendra Prasad was our first President of India. Since we got independence from the British rule in 1947, our country has developed a lot and counted among the powerful countries. Together with some developments, some drawbacks have also arisen such inequality, poverty, unemployment, corruption, illiteracy, etc. We need to take a pledge today for solving such problems in the society to make our country a best country of the world.
Thanks, Jai Hind!
Share:

Thursday, 11 January 2018

Latest Happy Makar Sankranti 2018 Images

Latest Happy Makar Sankranti 2018 Images


Makar Sankranti 2018 is the gather celebration, and diverse names crosswise over India know it. We are here with the accumulation of Happy Makar Sankranti 2018 Images which will be useful to wish others. Makar Sankranti is known by various names all over India, and diverse societies commend the celebration in an unexpected way. Makar Sankranti 2018 is commended as a collect celebration which is basic in an agrarian nation. We are here with huge Makar Sankranti Images and Wallpapers, which you can utilize them in the coming celebration. Each of us wants to commend the celebration with our pals, and Makar Sankranti is another occasion which you can celebrate alongside others after the new year. We will present more articles related on Makar Sankranti in the accompanying posts and trust you require these HD pictures and backdrops.

 Many individuals praise the Makar Sankranti celebration inside their neighborhood gather, and disregarding all societies, we require great Makar Sankranti 2017 wishes and welcome to welcome our companions. Prior we posted about Pongal and Lohri, which is the celebration connected with the Makar Sankranti.Makar Sankranti is praised all over India in different names, and it changes as per the convention. Many individuals commend the Makar Sankranti celebration inside their nearby gathering, and notwithstanding all societies, we require great Makar Sankranti 2017 wishes and welcome to welcome our companions. Prior we posted about Pongal and Lohri, which is the celebration connected with the Makar Sankranti.


Makar Sankranti 2018 Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images


Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Makar Sankranti Images

Share:

50+ Latest Happy Makar Sankranti 2018 Wishes

50+ Latest Happy Makar Sankranti 2018 Wishes

makar sankranti wishes



First of all Happy Makar sankranti to all of you. Here I have collection of Makar sankranti wishes which can be use to send wishes to your loved one on the occasion of Makar sankranti. So enjoy these Happy Makar Sankranti 2018 Wishes in Hindi and English


1. A Beautiful, Bright And Delighted
Day, Sun Entered Makar To Intense
The Ray. Crop Harvested To Cheer
The Smiles, Come Together And
Enjoy
The Life. Kites Flying High To Touch
The Happiness, Til Mangled With
Sweet
To Spread Sweetness. Time To
Enjoy
The Moment With Full Intensity
Very Happy Prosporous Makar
Sankranti. 2018

2. Makar Sankranti Identifies A Period Of Enlightenment,
Peace, Prosperity And Happiness
Followed By
A Period Of Darkness, Ignorance And Viciousness
With Immense Sorrow.
The Six Months Of Northern Movement Of The Sun
Is Followed By Six Months Of Southern Movement.
This Is The Same Analogy As The Kingdom Of Rama
hat Lasts For Half The World Cycle
Followed By The Kingdom Of Ravana
For The Other Half Of The Cycle.
Analogously,
The Kingdom Of Rama Is Heaven And
The Kingdom Of Ravana Is Hell.
Happy Makar Sankranti 2018 

3. The Sun Is The Most Glorious
And The Most Important To Life
And The Festival Of Makar Sankranti
Is One Of The Most Important And
Happy Feasts In Its Honor.
Happy Kite Flying Day, Pongal,Uttarayan
Happy Makar Sankranti 2018

4. May This Festival Of Zeal
And Verve Fill Ur Life
With Lots Of Energy And Enthusiasm
And May It Help You Bring Happiness
And Prosperity 2 U And Ur Loved Ones.
Happy Lohri And Sankranti 2018

5. Look Outside?
It?s so pleasant!
Sun Smiling For you?
Trees Dancing for you?
Birds singing for you?
Because I requested them All to
wish You
HAPPY MAKAR SANKRANT! 2018

6. With Great Devotion,
Fervor and Gaiety,
With Rays of Joy and Hope,
Wish You and Your Family,
HAPPY MAKAR SANKRANTI.. 2018

7. As The Sun Starts Northward Journey.
He Makes All The Happiness Of
Throughout This Year.
I Wish You And Your Family a
Very Happy Makar Sankranti. 2018

8. Makar Sankranti Marks Joy And Cheer 
And Brings Along Everything That’s Best.
May The Festival Of Harvest Season Be One 
That Brings Along With It All That’s Best And Everything You Deserve.
Have A Memorable Makar Sankranti! 2018

9. Happy Sankranti Means:
S: SANTHOSHAM
A: ANXIETY
N: NOMADIC
K: KASTAM
R: RULE
A: ANY
N: NAUGHTY
T: TASTER
I: INTELLENGENCES

10. Fill Your Life With Sweetness!
May The Sun Radiate Peace, Prosperity 
And Happiness In Your Life On Makar Sankranti 
And Always! Like A Bright And Beautiful Kolam 
May Your Days Be Sprinkled With Joy And Happiness! 
May The Makar Sankranti Bring In New Hopes And Good Harvest For You!
Wishing You A Happy Makar Sankranti

11. The Sun Rises With New Hope 
Kites Fly With Vigor Crops 
Are Ready To Be Harvested All Denoting Hope, Joy And Abundance.
Wishing You A Very Happy Makar Sankrant!

12. With Great Devotion, Fervor And
Gaiety, With Rays Of Joy And Hope,
Wish You And Your Family,
Happy Makar Sankranti..

13. May The Makar Sankranti Fire Burns,
All The Moments Of Sadness 
And Brings You The Warmth Of Yoy 
And Happiness And Love…
Very Happy Prosperous Makar Sankranti!

14. What Is That Bright Light?
From Where Does This Fragrance
Coming? This Gentle Breeze,
Cool Air Hearty Music,
Oh! Its Sankranthi, Wish You A
Very Happy Makar Sankranti.

15. A New Beginning
A New Destination
With Happiness Or Sorrow
With Pain Or Pleasure
Best Wishes for Makar Sankranti!

16. Time To Enjoy The Moment 
With Full Intensity With all. 
May You Have A Very Warm & Joyous Sankranti!

17. Wishing You A Day 
Full Of Grand Celebrations Happiness And Lot Of Cheer. 
May You Have A Very Warm & Joyous Sankranti!

18. Sankranti, The Festival Of The Sun Is Here ! 
May It Bring You Greater Knowledge And Wisdom 
And Light Up Your Life For The Entire New Year.
Have A Joyful Makar Sankranti!

19. I May Be Far Away But, 
The Warmth Of My Wishes Will Surely Reach You. 
Have A Joyful Makar Sankranti!
20. This Greeting Has Been Send Your Way To Wish You 
Everything That The Occasion Is Meant To Bring. 
Wish You And Your Family Happy Makar Sankranti!


21. Hope This Auspicious Occasion
Of Sankranti Connect You To
Some Brighest Moments Just As
The Kites Dot The Sky. May You
Reach New Hight Of Happiness
Adding Charm To Your Celebration

22. Flying Class Is Now Open. 
This Makar Sakranti, Learn To Design 
And Fly Kites From The Experts With The Fun Kite Flying Workshop.

23. May Your Life Be Blessed With
Love, May Your Life Be Blessed
With Lakshmi May Your Life
Be Blessed With Happiness.
Happy Makar Sankranti To You!

24. To Sweet Friend, I Send Happy Makar
Sankranti Wishes For You With
Love I Hope This Harvest Is The
Best In The Whole Year And You
Have Lots Of Grains To Earn
Profits. Happy Makar Sankranti.

25. Makar Sankranthi Denotes Great
Planning And Happy Beginnings
Daring And New Destinations
Success And Sweetness Wish
You A Great Pongal Happy
And Joyous Makar Sankranti!

26. May This Festival BringIn The
Promise Of A Good Harves
Sweetness Of Pongal Brightness
Of The Sun Joy, Hope And
Happiness Hapy Makar Sankranti!

27. Wishing U A Very Happy
Makar Sankranti May The
Makar Sankranti Fire Burns
All The Moments Of Sadness
And Brings You Warmth Of
Joy N Happiness And Love?1. Mithi Boli, Mithe Til, Mithi Juban

Makar Sankrant Ka Yahi Hai Paigam
HAPPY Makar SANKRANTI
Aapko Mubarak Ho Sankranti Ka Tyohar


28. Wishing You & Your Family
A Very Happy Sankranti,
Pongal & Bhogi.
May The Almighty Bless You
All With The Best Of Health,
Wealth & Prosperity. 

29. To Sweet Friend, I Send Happy
Makar
Sankranti Wishes For You With
Love I Hope This Harvest Is The
Best In The Whole Year And You
Have Lots Of Grains To Earn
Profits. Happy Makar Sankranti.

30. This Greeting Is Being Sent
Your Way, To Wish You Everything
That The Occasion Is Meant
To Bring. Have A
"Happy Makar Sankranti"

31. May Your Life Be Blessed With
Love, May Your Life Be Blessed
With Lakshmi May Your Life
Be Blessed With Happiness.
Happy Makar Sankranti To You!

32. Makar Sankranthi Denotes Great
Planning And Happy Beginnings
Daring And New Destinations
Success And Sweetness Wish
You A Great Pongal Happy
And Joyous Makar Sankranti

33. Happy Makar Sankranti To All!
We Thank Sun For Burning
Himself To Save Us. We Thank
Plants Sacrificing Their Life
For Us And We Thank All The
Creatures Helping Us To Live
In This World For Some Time

34. Sankranti, The Festival Of The Sun Is Here !
May It Bring You Greater Knowledge and
Wisdom and light up your Life For The Entire New Year.
Happy Makar Sankranti!

35. May Makar Sankranti
Fill Your Life With Sweetness!
May The Sun Radiate Peace,
Prosperity And Happiness In Your Life
On Makar Sankranti And Always!

36. Like A Bright And Beautiful Kolam
May Your Days Be Sprinkled With Joy And Happiness
Happy Makar Sankranti!

37. May The Makar Sankranti
Bring In New Hopes And Good Harvest For You!
Wishing You A Happy Makar Sankranti!

38. Til Hum Hai, Aur Gul Aap,
Mithai Hum Hai Aur Mithas
Aap, Saal K Pahale
Tyohar Se Ho Rahi Aaj
Shuruwat Aap Ko Hamari Taraf
SE Happy Makar Sankrant

39. Basmati kalav urad ki daal,
Ghee ki khusbu aam ka achar,
Dahibare ki Mahak or apno ka Pyar,
Mubarak ho apko khichadi ka tyohar
Happy Makar Sankranti

40. Gud Ki Mithas
Patango Ki Aas
Sankranti Me Manao Jam Kar Ullas ..
Happy Makar Sankranti

41. Mandir Ki Ghanti,
Arti Ki Thali,
Nadi K Kinare
Suraj Ki Lali,
Jindige me aye
Khushiyo Ki Bahar,
Apko Mubarak Ho
Sankrant Ka Tyohar

42. Bajare Ki Roti,
Nimbu Ka Achar,
Suraj Ki Kirne,
Chand Ki Chandani,
Aur Apno Ka Pyaar
Har Jeevan Ho Khushal
Mubarak Ho Aapko
Sankranti Ka Tyohar

43. Meethe Gud Main
Mil Gaya Til,
Udi Patang Aur
Khil Gaya Dil,
Har Pal Sukh Aur
Hardin shanti
Aap Ke Liya
Happy Makar Sankranti

44. Mithi Bole, Mithi Zubaan,
Makar Sankranti Ka Yehi
Hai Paigaam, Take Sweet,
Talk Sweet, Be Sweet ..
Haapy Makar Sankrnti ..!

45. Tyohar Nahi Hota Apna Paraya,
Tyohar Hai Wahi Jise Sabne Manaya,
Toh Mila Ke Gud Me Til, Patang Sang Ud Jane Do Dil.

46. Pal Pal Sunahre Phool Khile,
Kabhi Na Ho Kanto Ka Samna,
Junk
Bhari Rahe, Sankranti Par
Hamari Yahi Shubhkamna
Happy Makar Sankranti

47. Suraj Ki Rashi Badlegi, Kuch
Ka Naseeb Badlega, Ye Saal
Ka Pehla Parv Hoga Jab Hum
Sub Mil Khushiya Manayege
Happy Makar Sakranti Friends.

48. Thand Ki Ek Subah Padega Hume
Nahana Kyuki Sankranti Ka Parv
Kar Dega Mausam Suhana, Kahi
Patang Kahi Dahi Chura Kahi
Khichdi Sab Kuch Ka Hai Mil Kar
Khushi Manana Happy Sakranti

49. Purnima Ka 'Chand',
Rango Ki 'Doli'
'Chand' Se Uski 'Chandni'
Boli .. Khushiyo Se Bhare
Ho Aapki 'Jholi' ...
Mubarak Ho Aap Ko Rang Birangi
'Patangwali' Makar Sankranti ..
Happy Makar Sankranti ......

50. Moongfali Di Khusboo Te
Gurh Di Mithaas, Makki
Di Roti Te Sarson Da Saag,
Dil Di Khushi Te Apneya
Da Pyar, Mubarak Hove Tuhanu
Makar Sankranti Da Tyohar

51. Tan Mein Masti Mann Mein
Umang Dekar Sabko Apnapan
Gud Mein Jaise Meethapan
Hokar Saath Hum Udayen Patang
Aur Bhar Len Aakash Mein
Apne Rang Happy Makar Sankranti!

52. Bin Sawan Barsat Nahi Hoti
Suraj Dube Bin Rat
Ab Aesi Adat Ho Gai Hai Ki
Aapko Wish Kiye Bin Kisi
Tyohar Ki Shuruwat not Hoti
Happy Makar Sankrant

53. Makar Sannkrati Ke Din Aapke
Jeevan Ka Andhera Chhat Jaye
Aevam Gyan Aur Prakash
See your search query.
Jaye! Happy Makar Sankranti

54. Til Pakwano Ki Mithas Zindagi Me
Create your first presentation
Me Bulandi Paiya Aur Apni Mehanat
Ki Dor Se Us Bulandi Ko Sambhal
Welcome to Happy Makar Sankranti

55. A Subah Nayi Si Kuch Dhoop
Khil Jayingi Peha Ya
Parv Hoga Jab Hawa Mein
Patang Sang Dil Mil
Jayenge Happy Sakranti ..!

56. Ye Saal Ki "Makar Sankrant"
Apk Liye Til-gul Jaisi Mithi
Aur 'Patang' Jaisi Unchi
Udan Laye Happy Sankranti

57. Bin Sawan Barsat Nahi Hoti
Suraj Dube Bin Rat
Ab Aesi Adat Ho Gai Hai Ki
Aapko Wish Kiye Bin Kisi
Tyohar Ki Shuruwat not Hoti
Happy Makar Sankrant


58. ठण्ड की इस सुबह पड़ेगा हमे नहाना,
क्योकि सक्रांति का पर्व कर देगा मोसम सुहाना,
दिन भर पतंग है उड़ाना,
कहीं गुड कही तिल के लड्डू मिल कर है खाना,
मकर सक्रांति की मुबारका ||

59. तील हम है और गुल आप,
मिठाई हम है और मिठास आप,
साल के पहले त्यौहार से हो रही आज शुरुआत,
आप को हमारी तरफ से हैप्पी संक्रांति ||

60.पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी न हो काँटों का सामना,
जिंदगी आपकी खुशियाँ से भरी रहे,
सक्रांति पर हमारी यही शुभकामना ||
हैप्पी मकर संक्रांति 2018

61. ऊँची पतंग, खुला आकाश,
संक्रांति पर छाए हर्षोउल्लास,
संक्रांति आपके लिए शुभ हो,
हैप्पी मकर संक्रांति ||

62. मन्दिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
जिन्दगी में आए खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार ||

63. सुंदर कर्म, शुभ पर्व,
हर पल सुख और हर दिन शान्ति,
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति ||

64. हो आपकी लाइफ में खुशियाली,
कभी न रहे कोई भी पहेली,
सदा सुखी रहे आप और आपकी फॅमिली,
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाये ||

65. दिल को धडकन से पहले,
दोस्तों को दोस्ती से पहले,
प्यार को मोहब्बत से पहले,
ख़ुशी को गम से पहले,
आपको कुछ दिन पहले,
हैप्पी मकर Sankranti.

66. त्योहार नही होता अपना पराया,
त्योहार है वही जिसे सबने मनाया,
तो मिला के गुंड में तिल,
पतंग संग उड़ जाने दो दिल ||
मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ.

67. सूरज की राशि बदलेगी,
बहुतों की किस्मत बदलेगी,
यह साल का पहला पर्व होगा,
जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगेंपर,
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें ||
Share:

Best Happy Lohri 2018 Images

Best Happy Lohri 2018 Images

Happy Lohri to all, we collected Happy Lohri 2018 Images, Happy Lohri 2018 Wallpapers and Lohri Pictures, Photos for celebrating this day with lots of fun and lots of grace. As we know that Lohri festival is most popular festival in Punjab and also celebrated with lots of fun. Mostly this festival celebrates in Punjab but by the increasing of trends this festival celebrated by all peoples across the India. The day is celebrated by peoples in many creative ways and many people believe that the beautiful festival is originally celebrated on winter solstice day, and it is being shortest day of the month and also longest night of the year for celebrating this day. Lohri is an agricultural winter festival of Punjabi’s people. So here we collected all advanced collection on these topics, we hope you like our collection which is given below and also pick best out of them for sending,


lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

happy lohri images

Share:
Copyright © Whatsapp Status, Cool Status, Love Status, Status In Hindi, Attitude Status In Hindi